Visitors

tajdar e haram lyrics

tajdar e haram lyrics - Atif Aslam

tajdar e haram lyrics

tajdar e haram lyrics


Singer: Atif Aslam


Kismat mein meri chain se jeena likhde क़िस्मत में मेरी चैन से जीना लिख दे
Doobe na kabhi mera safeena likh de डूबे ना कभी मेरा सफ़ीना लिख दे
Jannat bhi ganwara hai,  जन्नत भी गँवारा है
magar mere liye मगर मेरे लिए
Aye kaatib-e-taqdeer, ऐ कातिब-ए-तक़दीर
madina likhde मदीना लिख दे
Tajdar-e-haram,  ताजदार-ए-हरम (2)
ho nigaah-e-karam हो निगाह-ए-करम
Hum ghareebon ke din bhi sanwar jayenge हम गरीबों के दिन भी संवर जाएंगे
Haami-e-bekasaan kya kahega jahan हामी-ए बेकसां क्या कहेगा जहां
Aapke darr se khaali agar jayenge आपके दर से खाली अगर जाएँगे
Tajdar-e-haram (2) ताजदार-ए-हरम (2)
Koi apna nahi gham ke maaray hain hum कोई अपना नहीं गम के मारे हैं हम
Aapke darr pe faryaad laaye hain hum आपके दर पे फ़रियाद लाएँ हैं हम
Ho Nigah-e-karam, हो निगाह-ए-करम
 warna chokhat pe hum वरना चौखट पे हम
Aapka naam le le ke mar jayenge आपका नाम ले ले के मर जाएँगे
Tajdar-e-haram (2) ताजदार-ए-हरम (2)
Kya tumse kahoon aye Arab ke kunwar क्या तुमसे कहूँ ऐ अ रब के कुँवर
Tum jaanat ho mann ki battiyaan तुम जानते हो मन की बतियाँ
Darr furqat toh aye ummi-laqab दार-ए-फुरक़त तो आये उम्मी-लक़ब
Kaate na katath hai ab rattiyaan काटे ना कटती हैं अब रतियाँ
Turi preet mein sudbud sab bisri तोरी प्रीत में सुध-बुध सब बिसरी
Kab tak rahegi ye beqabri कब तक रहेगी ये बेखबरी
Daah-e-ka pigan duzdi da nazar गाहे बेफ़िगन दुज़दीदाह नज़र
Kabhi sun bhi toh lo humri battiyaan कभी सुन भी तो लो हमारी बतियाँ
Aapke darr se koi na khaali gaya आपके दर से कोई ना खाली गया
Apne daaman ko bhar ke sawaali gaya अपने दामन को भर के सवाली गया
Ho habeeb-e-hazin, ho habeeb-e-hazin हो हबीब-ए-हज़ीन(2)
 par bhi aaqa nazar पर भी आक़ा नज़र
Warna auraq-e-hasti bikhar jayenge वरना औराक़ ए-हस्ती बिखर जाएँगे
Tajdar-e-haram (2) ताजदार-ए-हरम (2)
Maikashon aao aao madine chalen मैकशों आओ आओ.. मदीने चलें
Aao madine chalen (2) आओ मदीने चलें (2)
Isi mahine chalen इसी महीने चलें
Aao madine chalen, आओ मदीने चलें
Tajalliyon ki ajab hai fazaa madine mein तजल्लियों की अजब है फ़िज़ा मदीने में
Tajalliyon ki ajab hai fazaa madine mein निगाहें शौक़ की हैं इंतेहां मदीने में
Gham-e-hayat na khauf-e-kazaa madine mein ग़म-ए-हयात ना खौफ-ए-क़ज़ा मदीने में
Namaz-e-ishq karenge adaa madine mein नमाज़-ए-इश्क़ करेंगे अदा मदीने में
Barah-e-raas hai raahe-e-khuda madine mein बराह-ए-रास है राह-ए-खुदा मदीने में
Aao madine chalen, आओ मदीने चलें (2)
Isi mahine chalen इसी महीने चलें
Aao madine chalen, आओ मदीने चलें
Maikashon aao aao madine chalen मैकशों आओ आओ मदीने चलें
Dast-e-saaqiy-e-kausar se peene chalen दस्त-ए-साक़ी ये कौसर से पीने चलें
Yaad rakho agar, याद रखो अगर
Uthgayi ek nazar उठ गई इक नज़र
Jitne khaali hai sabb jaam bhar jayenge जितने खाली हैं सब जाम भर जाएँगे
Jo Nazar वो नज़र
Tajdar-e-haram (2) ताजदार-ए-हरम (2)
Khof-e-toofan hai, bijliyon ka hai darr खौफ़-ए-तूफ़ान है
 bijliyon ka hai darr बिजलियों का है डर
Sakht mushkil hai aaqa kidhar jayen hum सख़्त मुश्किल है आक़ा किधर जाएँ हम
Ap hi garr na lenge, hamari khabar आप ही गर न लेंगे हमारी खबर
हम मुसीबत के मारे किधर जाएँगे
Tajdar-e-haram (2) ताजदार-ए-हरम (2)
Ya mustafa,  या मुस्तफ़ा
ya mujtaba, या मुजतबा
Eraham-lana,  इरहम लना
eraham-lana इरहम लना
Kast-e-hama, bechara ra दस्त-ए हमह बेचारा-रा
Daama tuhi, daama tuhi दमाँ तो-ई दमाँ तो-ई
Mann aasiyam, Mann ajizam मन आसियां मन आजिज़म
Mann bekasam, Haal-e-mara मन बे-कसम हाल-ए-मेरा
Pursa tuhi, pursa tuhi पुरसं तो-ई (2)
Aye mushtub-e-zambar fishaan ऐ मुश्क-बेद ज़ुम्बर फ़िशां
Paike naseem-e-sub hadam पैक-ए-नसीम ए सुबह दम
Aye charagar insanafas ऐ चारहगर ईसा नफ़स
Aye moonis-e- beemar-e-gham ऐ मूनस ए बीमार-ए-ग़म
Aye qaasid-e-parkhundapaye ऐ क़ासिद ए फुरकंदपह
Tujhko usi gul ki kasam तुझको उसी गुल की कसम
Innal tayari has saba इन नलती या री अस-सबा
Yaumal ila-ar-dil-haram यौमन इला अर्द इल-हरम
Ballig salami roza tann बल्लिघ सलामी रौदतन
Fi-han nabi-al-mohtaram फी अन-नबी अल मोहतरम
Tajdar-e-haram ( 2) ताजदार-ए-हरम (2)

tajdar e haram lyrics - Atif Aslam


close