Visitors

kabhi kabhi mere dil mein khayal aata hai Lyrics


kabhi kabhi mere dil mein khayal aata hai Lyrics - Mukesh





kabhi kabhi mere dil mein khayal aata hai Lyrics




Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Ke Jaise Tujhko Banaya Gaya Hai Mere Liye के जैसे तुझको बनाया गया है मेरे लिये 
Ke Jaise Tujhko Banaya Gaya Hai Mere Liye के जैसे तुझको बनाया गया है मेरे लिये 
Tu Ab Se Pahle Sitaro Me Bas Rahi Thi Kahi तू अबसे पहले सितारों में बस रही थी कहीं 
Tu Ab Se Pahle Sitaro Me Bas Rahi Thi Kahi तू अबसे पहले सितारों में बस रही थी कहीं 
Tujhe Zami Pe Bulaya Gaya Hai Mere Liye तुझे ज़मीं पे बुलाया गया है मेरे लिये 
Tujhe Zami Pe Bulaya Gaya Hai Mere Liye तुझे ज़मीं पे बुलाया गया है मेरे लिये
Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Ke Ye Badan Ye Nigahe Meri Amanat Hai के ये बदन ये निगाहें मेरी अमानत हैं
Ke Ye Badan Ye Nigahe Meri Amanat Hai के ये बदन ये निगाहें मेरी अमानत हैं
Ye Gesuo Ki Ghani Chhao Hai Meri Khatir ये गेसुओं की घनी छाँव हैं मेरी ख़ातिर
Ye Hoth Aur Ye Bahe Meri Amanat Hai ये होंठ और ये बाहें मेरी अमानत हैं
Ye Hoth Aur Ye Bahe Meri Amanat Hai ये होंठ और ये बाहें मेरी अमानत हैं
Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Ke Jaise Bajati Hai Shahnaiya Si Raho Me के जैसे बजती हैं शहनाइयां सी राहों में
Ke Jaise Bajati Hai Shahnaiya Si Raho Me के जैसे बजती हैं शहनाइयां सी राहों में
Suhag Rat Hai Ghunghat Utha Raha Hu Mai सुहाग रात है घूँघट उठा रहा हूँ मैं  
Suhag Rat Hai Ghunghat Utha Raha Hu Mai सुहाग रात है घूँघट उठा रहा हूँ मैं  
Simat Rahi Hai Tu Sharama Ke Apni Baho Me सिमट रही है तू शरमा के मेरी बाहों में
Simat Rahi Hai Tu Sharama Ke Apni Baho Me सिमट रही है तू शरमा के मेरी बाहों में
Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Ke Jaise Tu Mujhe Chahegi Umar Bhar Yu Hi कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Uthegi Meri Taraf Pyar Ki Nazar Yu Hi उठेगी मेरी तरफ़ प्यार की नज़र यूँही
Mai Janata Hu Ke Tu Gair Hai Magar Yuhi मैं जानता हूँ के तू ग़ैर है मगर यूँही
Mai Janata Hu Ke Tu Gair Hai Magar Yuhi मैं जानता हूँ के तू ग़ैर है मगर यूँही
Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है
Kabhi Kabhi Mere Dil Me, Khayal Aata Hai कभी कभी मेरे दिल में, ख़याल आता है


close